गणेश जी के 10 दिनों में इस एक मंत्र से मिटेगी दरिद्रता, दौड़ कर आएगी समृद्धि

यदि अत्यधिक ऋण हो गया हो और उसे चुकाने में समस्या आ रही हो तो श्री गणेश की आराधना-उपासना करने से ऋण चुकाने में सहायता मिलती है। 
 
गणेशोत्सव में किसी भी दिन स्नान कर सफेद कपड़े पहन कर पूर्व दिशा में मुंह करके बैठें। सामने लकड़ी की चौकी पर सफेद कपड़ा बिछाकर उस पर अक्षत यानी चावल पर आंकड़े के गणपति यानी श्वेतार्क गणपति की स्थापना करें। गणपति की कुंकुम, चावल व मोली से पूजा करें व धूप-दीप करें। साथ गणपति को सिंदूर चढ़ाएं। इसके बाद मूंगे की माला से इस मंत्र की 5 माला जाप करें।
 
यह मंत्र जपें :- ॐ नमो विघ्नहराय गं गणपतये नम:
 
पूजा के बाद आंकड़े के गणपति और मूंगे की माला लाल कपड़े की पोटली में बांध गणपति मंदिर में गणेशजी के चरणों में रखकर घर लौटें। यह उपाय करने से ऋण से जुड़ी परेशानियां तो दूर हो सकती हैं, साथ ही आर्थिक तंगी और दरिद्रता से छुटकारा मिल सकता है। 

ALSO READ: पारद गणेश प्रतिमा का क्यों है विशेष महत्व, जानें 5 विशेष लाभ

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING