नेमार : झोपड़पट्‍टी से निकलकर आलीशान बंगले तक

फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण में फुटबॉल बिरादरी की जुबां पर क्रिस्टियानो रोनाल्डो, लियोनेल मैसी के बाद तीसरे सबसे बहु‍चर्चित स्टार का नाम था नेमार द सिल्वा सान्टोस जूनियर। जब भी ब्राजील मैदान पर उतरा, तब सबकी नजरें नेमार पर ही टिकी रहती थीं कि वे क्या कमाल दिखाते हैं। विरोधी टीम के 3 खिलाड़ी नेमार को घेरे रहते थे, इसके बाद भी वे बेहद कौशल के साथ मूव को अंजाम देते रहे। 
 
सुनहरी बालों के साथ विचित्र हेयर स्टाइल में जब नेमार 17 जून को पहली बार फीफा विश्व कप में स्विट्‍जरलैंड के खिलाफ मैदान में उतरे तो एक दर्जन से ज्यादा बार गिराए गए। पहले मैच में उन्हें गोल करने की जगह नहीं मिली तो वे मूव बनाते रहे और यह मुकाबला 1-1 से बराबरी पर खत्म हुआ। 
 
ग्रुप 'ई' में 22 जून को ब्राजील की टक्कर कोस्टारिका से थी और जब मुकाबला 1-1 से ड्रॉ की तरफ बढ़ रहा था, तब अंतिम क्षणों में नेमार ने अपनी जादुई कला का मुजाहिरा करते हुए दर्शनीय गोल दागकर ब्राजील को 3 अंकों के साथ नॉकआउट में पहुंचाया। ब्राजील हमेशा से 'टच' फुटबॉल का बेहतरीन खेल खेलता आया है। चूंकि नेमार टीम के अनुभवी रणनीतिकार हैं, लिहाजा उन्हें घेरने के लिए डिफेंस में तीन खिलाड़ी मौजूद रहते हैं।
ग्रुप चरण के मैचों में अभी तक दुनिया ने नेमार के पैरों से सिर्फ एक ही गोल होते हुए देखा है जबकि उनसे अपेक्षा कई गोलों की है। फीफा रैंकिंग में ब्राजील नंबर 3 के साथ विश्व कप में अपना मुकाबला खेलने उतरा है और उसकी पहली कोशिश यही है कि सबसे ज्यादा पांच बार विश्व चैम्पियन बनने की गौरवशाली परंपरा को कायम रखे। इसमें बहुत कुछ जिम्मेदारी नेमार को उठानी होगी। नेमार के दम पर ब्राजील नॉकआउट दौर में पहुंच चुका है। 
 
ब्राजील के सुपर स्टार नेमार पुर्तगाल के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो और अर्जेन्टीना के फुटबॉल मसीहा कहे जाने वाले लियोनेल मैसी की तर्ज पर स्टाइलिश और लग्जीरियस लाइफ जीते हैं। रोनाल्डो और मैसी की तरह नेमार का बचपन भी तंगहाली में बीता लेकिन 26 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया की वो हर चीज हासिल कर ली, जो एक युवा इन्हें पाने का सिर्फ सपना देखा करता है। 
झोपड़पट्टी में नेमार का जन्म : नेमार द सिल्वा सान्टोस जूनियर का जन्म 5 फरवरी 1992 को एक बेहद गरीब परिवार में हुआ। पिता का नाम नेमार सान्टोस और मां का नाम नदाइन था। यह परिवार साओ पाउलो में मोगी डास कृजेस नाम की झोपड़पट्टी में बसर करता था। पिता खुद भी फुटबॉल के अच्छे खिलाड़ी थे इसीलिए बेटे का नाम नेमार जूनियर रख दिया। 
 
घर में एक गद्दे पर सोते थे चार लोग : नेमार के जन्म के बाद परिवार में एक बहन भी आ गई थी, जिसका नाम राफायेला बेकरन रखा। यह परिवार इतना गरीब हुआ करता था कि परिवार के चारों लोगों को एक ही गद्दे पर सोना पड़ता था। कई बार तो बिजली का बिल न भरने के कारण लाइट कट जाया करती थी। नेमार और उनकी बहन बिजली न रहने के कारण स्कूल का होमवर्क भी नहीं कर पाते थे और दूसरे दिन स्कूल में सजा पाते थे।  
 
सांतोस एफसी ने पहली बार किया अनुबंधित : ब्राजील में स्ट्रीट फुटबॉल खेलकर नेमार चर्चित होने लगे और 10 साल की उम्र में उनके सपनों को पर दिए सांतोस एफसी ने। सांतोस ने अपनी यूथ टीम के लिए नेमार को अनुबंधित किया और यहीं से एक महान फुटबॉल हस्ती का जन्म हुआ।  
 
15 साल की उम्र में नेमार की कमाई 10 हजार डॉलर : 11 साल की उम्र के आते-आते वे फुटबॉल की दुनिया में अपनी छाप अंकित कर चुके थे। 15 साल की उम्र में नेमार की कमाई 10 हजार डॉलर तक पहुंच गई थी। 17 साल की उम्र में उन्होंने पेशेवर फुटबॉल की शुरुआत की। ब्राजील के वे ऐसे पहले फुटबॉलर हैं, जो पेरिस सेंट-जर्मेन के लिए खेले।
 
पेरिस सेंट-जर्मेन के साथ 222 मिलियन यूरो का करार : नेमार ने अगस्त 2017 में बार्सिलोना क्लब को छोड़कर पेरिस सेंट-जर्मेन क्लब के साथ 222 मिलियन यूरो का रिकॉर्ड करार किया है, जिसके कारण वे दुनिया के सबसे महंगे फुटबॉल खिलाड़ियों में शुमार हो गए। 
 
विश्व कप में नहीं खेले, दिलाया ओलंपिक स्वर्ण : 2014 में अपने ही देश ब्राजील में आयोजित विश्व कप में नेमार चोट की वजह से नहीं खेले लेकिन 2016 में रियो ओलंपिक खेलों में उन्होंने अपनी कप्तानी में ब्राजील को स्वर्ण पदक दिलवाया। हैरत की बात है कि ब्राजील जैसे देश को ओलंपिक में फुटबॉल का गोल्ड मैडल जीतने में 116 साल लग गए। 
19 साल की उम्र में बन गए थे पिता : नेमार दौलत और शोहरत दोनों हाथों से बटोर रहे थे, इसी बीच उन्हें कॉरोलिना डेंटास नामक लड़की से मोहब्बत हो गई। नेमार ने शादी करने में देरी नहीं की और 19 साल की उम्र में वे एक बच्चे के पिता बन गए थे। उन्होंने बेटे का नाम रखा देवी लुक्का, जो इस समय 7 साल का है। 
 
दुनिया के सबसे महंगे खिलाड़ियों में शुमार : 26 साल के नेमार अपने करिश्माई खेल के बूते पर दुनिया के सबसे चर्चित और करिश्माई फुटबॉलर के रूप में शुमार किए जाते हैं। उन्हें 'ब्राजील का अगला पेले' कहा जाता है। 
 
नेमार की लग्जरी लाइफ : नेमार ने भले ही झोपड़पट्‍टी में जन्म लिया हो, भले ही पिता के पास बिजली का बिल भरने के पैसे नहीं रहे हों और भले ही एक गद्दा अपने माता-पिता और बहन के साथ शेयर किया हो लेकिन आज उन्होंने अपने पैरों के जादू के बूते पर दुनिया के तमाम ऐशो-आराम के साधन पूरे परिवार को मुहैया करवाए हैं।  नेमार की नेटवर्थ 937 करोड़ रुपए आंकी गई है। 
 
नेमार के पास खुद के विमान : नेमार के पास रोनाल्डो और लियोनेल मैसी की तर्ज पर कारों का लंबा काफिला है।चर्चा में वे इसलिए रहते हैं क्योंकि उनके पास खुद के विमान हैं।
2011 में नेमार ने फीनमस 100 नाम का जेट विमान खरीदा था, जिसकी कीमत 26 करोड़ रुपए थी। इसके बाद नेमार ने 2013 में 28 करोड़ रुपए कीमत का एक हेलिकॉप्टर खरीदा। हेलीकॉप्टर के लिए उन्होंने अपने विशाल बंगले में हेलीपेड भी बनाया। 2016 में उन्होंने 33 करोड़ रुपए की कीमत का सेस्ना सिटेशियन 680 विमान खरीदा। 
 
लग्जरी घर : नेमार के पास ब्राजील और बार्सिलोना में कई एकड़ में फैले बंगले हैं। फिलहाल वे पेरिस के पास पांच मंजिल विला में रहते हैं। इस पूरे अपार्टमेंट का किराया वे प्रतिमाह 10 लाख रुपए चुकाते हैं।  
मां के नाम पर याट : 235 करोड़ की याट भी नेमार के पास है, जिसका नाम उन्होंने नदाइन रखा हुआ है जो उनकी मां का नाम है। 2017 में नेमार ने एंडोसमेंट से डील की थी। नेमार ने 17 बरस की उम्र में अपने जीवन की पहली एंडोसमेंट डील स्पोर्ट्‍स वियर कंपनी नाइकी के साथ की थी। आज यदि नेमार झोपड़पट्‍टी से निकलकर आलीशान बंगले तक पहुंचे हैं तो इसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत और तपस्या है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING