बचपन के बाबूजी और आज के पप्पा

'नीना की नानी की नाव चली' गाते अशोक कुमार हों या फिर मुगले आजम में धीर-गंभीर आवाज में शेखू को समझाते...

ऐसे हैं मेरे पिता...

कैसे मनाएँगे आप 100वाँ फादर्स डे?

पापा को दें कुछ खास और यादगार

पिता के नाम प्यार का पैगाम

माय पापा इज ग्रेट!

पिता से मिले जीवन के मूलमंत्र