कहीं आप भी तो नहीं करते हैं यह समर फैशन ब्लंडर्स

मौसम के बदलते मिजाज के साथ ड्रेसिंग के अंदाज में भी बदलाव जरुरी होता है। खान-पान से लेकर पहनावे तक सभी में मौसम के मुताबिक बदलाव नजर आता है। वैसे तो आजकल मार्केट में हर मौसम के मुताबिक फैशनेबल कपड़े, एक्सेसरीज वगैरह आसानी से उपलब्ध रहते हैं लेकिन कई बार थोड़ी-सी चूक सबके सामने आपकी इमेज खराब कर सकती है। पेश हैं कुछ समर फैशन ब्लंडर्स, जिनका ध्यान रखना बेहद जरुरी है वरना ये आपकी छवि पर खराब असर डाल सकते हैं- 
 
तेज खुशबू वाले परफ्यूम्स या डिओड्रेंट्स
 
आमतौर पर लोग गर्मियों में पसीने की बदबू से बचने के लिए तेज खुशबू वाले परफ्यूम्स या डिओड्रेंट का इस्तेमाल करते हैं लेकिन गर्मियों में ये तेज खुशबू भी बेहद असहनीय हो जाती है। इसकी बजाय हल्की महक वाले परफ्यूम या डिओड्रेंट का इस्तेमाल ज्यादा उपयुक्त होता है। तेज या तीखे फ्रेंगरेंस की बजाय हल्की और भीनी खुशबू ज्यादा अच्छी भी लगती हैं और महकने पर असहनीय भी नहीं होती।
 
सॉक्स के इस्तेमाल में सावधानी
 
गर्मियों में पसीना ज्यादा आता है इसलिए अपने सॉक्स के इस्तेमाल में बेहद सावधानी बरतें। गर्मियों में कॉटन सॉक्स ही सबसे उपयुक्त रहते हैं। हालांकि कई बार लोग सर्दियों में खरीदे गए सॉक्स भी गर्मियों के मौसम में इस्तेमाल कर लेते हैं जो कि पसीना नहीं सोखते और बदबू पैदा करते हैं। इसके अलावा नियमित रुप से सॉक्स बदलते रहना चाहिए। साथ ही सॉक्स को धोते समय उसमें थोड़ा-सा डेटॉल भी डाल देना चाहिए, जिससे बदबू और बदबू पैदा करने वाले कीटाणु दोनों दूर हो सके। 
 
फुल बांह के कपड़ों से दूरी न बनाएं
 
आमतौर पर लोग गर्मियों में स्लीव-लेस या शॉर्ट स्लीव टी-शर्ट्स, शर्ट्स, कुर्ती या टॉप ज्यादा पसंद करते हैं लेकिन अगर धूप में निकलना पड़े, तो ये स्लीव-लेस या छोटी स्लीव्स वाली ड्रेस आरामदायक की बजाय नुकसानदेह साबित हो सकती हैं। तेज धूप से सन-बर्न, त्वचा का लाल हो जाना या स्किन टेन की शिकायत हो सकती हैं। ऐसे में फुल बांह के कपड़े फायदेमंद साबित होते हैं। इसलिए गर्मियों में फुल के बांह के कपड़ों से पूरी तरह दूरी न बनाएं, बल्कि हल्के और अच्छे फुल बांह के कपड़ों को भी अपने बॉर्डरोब में शामिल करें। 
 
कॉटन फैब्रिक का इस्तेमाल और सावधानी
 
कॉटन को ‘किंग ऑफ़ फाइबर’ कहा जाता है। वैसे तो इसे हर मौसम में पहना जा सकता है लेकिन गर्मियों के लिए कॉटन सबसे उपयुक्त होता हैं क्योंकि ये आसानी से पसीना सोख लेते हैं और नेचुरल फाइबर होने की वजह से शरीर पर किसी प्रकार की एलर्जी भी नहीं होती है। 
 
हालांकि एक समय कॉटन को रिच फैब्रिक नहीं माना जाता था और लोग इसे सिर्फ घर पर ही पहनते थे, लेकिन अब कॉटन को भी ट्रेंडी और सोबर माना जाता है। यही वजह है कि अब कॉटन में कैजुअल वियर के साथ फॉर्मल और पार्टी वियर भी उपलब्ध रहते हैं। कॉटन पहनते समय ये ध्यान रखें, कि अगर उनमें स्टॉर्च किया हैं तो उन्हें पहनकर आप सामान्य से ज्यादा फूले या बिखरे न लगें। साथ ही कॉटन फैब्रिक पर सिलवटें जल्दी और अधिक आती हैं इसका भी खास ध्यान रखें। 
 
चुस्त कपड़ों के इस्तेमाल से बचें
 
गर्मी के मौसम में इस बात का विशेष ध्यान रखें, कि चुस्त या टाइट फिटिंग वाले कपड़े न पहनें। दरअसल टाइट फिटिंग वाले कपड़ों में भले ही आपका फिगर अच्छा दिखे,  लेकिन इस मौसम में पसीना ज्यादा आता है जिसके कारण पर इस तरह के कपड़ों में आराम महसूस नहीं होता। इसके अलावा गर्मी के मौसम में पसीने के कारण कपड़े शरीर से चिपक जाते हैं, जिससे कई बार असहज या अशोभनीय स्थिति का सामना करना पड़ सकता है।
 
भारी न पड़ जाए ज्यादा मेकअप या एक्सेसरीज
 
गर्मी के मौसम में ज्यादा मेक-अप से थोड़ा परहेज रखना ही बेहतर रहता है क्योंकि पसीना आपके मेकअप वाले रुप की शोभा बिगाड़ सकता है। इसी तरह गर्मी में एक्सेसरीज के चुनाव में विशेष सावधानी बरतें। सही, ट्रेंडी और कम से कम एक्सेसरीज का इस्तेमाल करें। साथ ही इस मौसम में एक साथ कई एक्सेसरीज का प्रयोग करने से भी बचना चाहिए। दरअसल इस मौसम में पसीने के कारण त्वचा बेहद संवेदनशील हो जाती है जिससे एक्सेसरीज से संक्रमण या एलर्जी की हो सकती है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING