नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले राजकुमार राव की स्ट्रगल की कहानी, खाने के पैसे नहीं रहते थे तब

राजकुमार राव ने बॉलीवुड में अपनी जो पहचान बनाई है, वो वाकई मुश्किल है। 'लव सेक्स और धोखा' जैसी फिल्मों से अपनी बॉलीवुड पारी शुरू करने वाले राजकुमार आज इंटरनेशनल लेवल पर सिलेक्ट होने वाली फिल्मों में लीड रोल निभाते हैं। उनकी कई उपलब्धियां उनकी मेहनत बयां करती हैं। राजकुमार राव ने हाल ही में अपने बॉलीवुड में आने से पहले स्ट्रगल की कहानी बयां की।
 
हाल ही में राजकुमार राव ने अपने पुराने दिनों की कहानी बयां की। राजकुमार राव ने बताया कि जब वे मुंबई काम की तलाश में आए थे, तब उन्हें छोटे-मोटे विज्ञापन मिल जाते थे जिसमें कई लोगों में मैं 10वां लड़का होता था। उनमें से कई विज्ञापन दर्शकों को याद भी नहीं होंगे। इस तरह से वे करीब 10 हजार रुपए महीना कमा लेते थे। लेकिन फिर भी कई दिन ऐसे थे, जब उनके पास कुछ नहीं होता था।
 
राजकुमार राव ने आगे बताया कि उन दिनों मैं अपने दोस्तों का खाना शेयर करता था। मैं हर वक्त ऑडिशंस के लिए इधर-उधर भटकता रहता था। मेरे पास कोई प्लान बी नहीं था। मैं ढेरों अस्सिटेंट डायरेक्टर्स और कास्टिंग डायरेक्टर्स से मुलाकात करता था। ऑडिशन लेने वाले लोग मुझे छोटे-छोटे रोल दे देते थे और मैं उन्हें बड़े रोल के लिए मनाने की कोशिश करता था, लेकिन कोई मानता नहीं था। फिर भी मुझे भरोसा था कि कोई न कोई मेरा टैलेंट जरूर परखेगा।
 
राजकुमार राव, शाहरुख खान को अपना रोल मॉडल मानते थे। उन्होंने कहा कि जब मैं बड़ा हो रहा था, तो शाहरुख से बेहद प्रभावित था। मैं उनके पोस्टर्स को देखता रहता था और कई बार सोचता था कि अगर शाहरुख जैसा इंडस्ट्री से बाहर का एक्टर आकर बॉलीवुड पर राज कर सकता है तो शायद मेरे लिए भी उम्मीद की किरण तो है। मुझे आज भी याद है कि किस तरह मैं अतुल मोंगिया से लगातार पूछता रहा था, जब तक कि उन्होंने मुझे 'लव, सेक्स और धोखा' के ऑडिशन के लिए नहीं बुला लिया। मैंने 3-4 टेस्ट दिए। एक हफ्ता निकल गया, लेकिन कोई जवाब नहीं आया और फिर वो दिन भी आया, जब मेरे अब तक किए हुए स्ट्रगल का नतीजा मुझे मिला।

ALSO READ: इसलिए जॉन अब्राहम ने 'सत्यमेव जयते' को रिलीज किया अक्षय कुमार की फिल्म 'गोल्ड' के सामने
 
राजकुमार ने उस दिन की खुशी बयां करते हुए बताया कि मैं घर पर अकेला था, जब मुझे मेरी जिंदगी का सबसे अहम फोन आया। वो शब्द थे- 'हो गया है... यू गॉट द फिल्म।' मैं अपने घुटनों पर गिर गया। सबसे पहले मम्मी को फोन किया। फिल्म रिलीज हुई और मुझे बहुत प्यार मिला, लेकिन मेरे लिए और भी ज्यादा खास पल आया, जब 'क्वीन' रिलीज हुई। मैं महबूब स्टूडियो में शूटिंग कर रहा था। मैंने सुना कि शाहरुख खान सर भी वहीं शूटिंग कर रहे हैं। मुझे लगा कि मेरे पास मौका है, मैं उनसे मिल सकता हूं। मैंने उन्हें एक मैसेज भेजा। मुझे नहीं लगा था कि वो मुझे जानते हैं लेकिन उन्होंने मुझे बुलाया और वे मेरे बारे में सब कुछ जानते थे। उन्होंने मुझे काफी स्पेशल फील कराया। मैं तो पहले से ही उनका फैन था लेकिन उस दिन मैं उनका और भी बड़ा फैन बन गया।
 
राजकुमार राव की ये स्ट्रगल की कहानी बहुत लंबी है। इसके बावजूद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और फिल्मों में शानदार काम किया। 'क्वीन', 'सिटीलाइट्स', 'बरेली की बर्फी', 'शादी में जरूर आना', 'न्यूटन' जैसी फिल्मों में उन्होंने दर्शकों और क्रिटिक्स का दिल जीता है। हाल ही में उनकी फिल्म 'फन्ने खां' भी रिलीज हुई और वे जल्द ही फिल्म 'स्त्री' में नजर आने वाले हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING