अक्षय कुमार का फॉर्मूला.. 80 करोड़ के कलेक्शन पर पैडमैन होगी हिट

25 जनवरी को 'पद्मावत' और 'पैडमैन' के बीच मुकाबला है। दोनों की लागत में भारी अंतर है। जहां 'पद्मावती' का बजट 180 करोड़ रुपये के आसपास है वहीं 'पैडमैन' इससे आधे बजट में तैयार हो गई है। इसलिए बॉक्स ऑफिस पर अच्छा करने का दबाव 'पद्मावत' पर ज्यादा है। 
 
तीन-चार साल पहले अक्षय कुमार की कुछ फिल्में फ्लॉप हुई थीं। यहां तक की 'बेबी' भी बस लागत ही वसूल पाई थी। तब से अक्षय ने ऐसा फॉर्मूला बनाया कि कम कलेक्शन पर भी उनकी फिल्म सफल हो जाए। 
 
यह फॉर्मूला कारगर साबित हुआ। अक्षय की रुस्तम, जॉली एलएलबी 2, टॉयलेट एक प्रेम कथा जैसी फिल्में सफल हुईं। यही फॉर्मूला अक्षय ने 'पैडमैन' के लिए भी अपनाया है। 
 
पैडमैन अक्षय के लिए खास फिल्म है। न केवल वे सामाजिक मुद्दा उठा रहे हैं बल्कि इस फिल्म के निर्माता के रूप में पत्नी ट्विंकल खन्ना का नाम भी है। हीरोइन के रूप में कई फिल्म करने वाली ट्विंकल अब फिल्म निर्माता के रूप में अपनी शुरुआत कर रही हैं। 
 
पैडमैन 75 करोड़ रुपये में बनी है। 15 करोड़ रुपये प्रचार-प्रसार पर खर्च हुए हैं। इस तरह से यह फिल्म लगभग 90 करोड़ रुपये में तैयार हुई है। 
 
सैटेलाइट और डिजिटल राइट्स के बदले में 50 करोड़ रुपये पहले ही प्राप्त हो चुके हैं। 10 करोड़ रुपये म्युजिक राइट्स के बदले में मिले हैं। 5 करोड़ ओवरसीज राइट्स के मिले हैं। इस तरह से 65 करोड़ रुपये रिलीज के पहले ही आ चुके हैं। 
 
बची रकम निकालने के लिए फिल्म को लगभग 55 करोड़ रुपये का कलेक्शन करना होगा। यह बेहद आसान है। पहले सप्ताह तक ही फिल्म इस आंकड़े को पार कर लेगी, ऐसा माना जा रहा है।
 
यदि फिल्म 80 करोड़ रुपये का कलेक्शन कर लेती तो है हिट हो जाएगी। अक्षय की पिछली कई फिल्में सौ करोड़ का आंकड़ा पार कर चुकी हैं। हैरत की बात नहीं है कि यदि 'पैडमैन' भी ऐसा ही कारनामा कर दिखाए। 
 
अक्षय का खेल बहुत 'सेफ' है। दबाव तो पद्मावत फिल्म पर है। फिल्म को न केवल विरोध का सामना करना पड़ेगा बल्कि बॉक्स ऑफिस पर शानदार प्रदर्शन भी करना होगा। 

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
LOADING