12 सितंबर 2018 : आपका जन्मदिन

Webdunia
जन्मदिन की शुभकामनाओं के साथ आपका स्वागत है वेबदुनिया की विशेष प्रस्तुति में। यह कॉलम नियमित रूप से उन पाठकों के व्यक्तित्व और भविष्य के बारे में जानकारी देगा जिनका उस दिनांक को जन्मदिन होगा। पेश है दिनांक 12 को जन्मे व्यक्तियों के बारे में जानकारी : 
 
अंक ज्योतिष के अनुसार आपका मूलांक तीन आता है। यह बृहस्पति का प्रतिनिधि अंक है। ऐसे व्यक्ति निष्कपट,  दयालु एवं उच्च तार्किक क्षमता वाले होते हैं। अनुशासनप्रिय होने के कारण कभी-कभी आप तानाशाह भी बन जाते हैं। आप दार्शनिक स्वभाव के होने के बावजूद एक विशेष प्रकार की स्फूर्ति रखते हैं। आपकी शिक्षा के क्षेत्र में पकड़ मजबूत होगी। आप एक सामाजिक प्राणी हैं। आप सदैव परिपूर्णता या कहें कि परफेक्शन की तलाश में रहते हैं यही वजह है कि अकसर अव्यवस्थाओं के कारण तनाव में रहते हैं। 
 
शुभ दिनांक : 3,  12,  21,  30
 
शुभ अंक : 1,  3,  6,  7,  9
 
शुभ वर्ष :  2019,  2028,  2030,  2031,  2034,  2043,  2049,  2052
 
ईष्टदेव : देवी सरस्वती,  देवगुरु बृहस्पति,  भगवान विष्णु 
 
शुभ रंग : पीला,  सुनहरा और गुलाबी 
 
कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद है। किसी विशेष परीक्षा में सफलता मिल सकती है। नौकरीपेशा के लिए प्रतिभा के बल पर उत्तम सफलता का है। नवीन व्यापार की योजना भी बन सकती है। दांपत्य जीवन में सुखद स्थिति रहेगी। घर या परिवार में शुभ कार्य होंगे। मित्र वर्ग का सहयोग सुखद रहेगा। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे। महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग भी है।
 
मूलांक 3 के प्रभाव वाले विशेष व्यक्ति 
* जनरल मानेक शॉ 
* औरंगजेब 
* अब्राहम लिंकन 
* स्वामी विवेकानंद 
* डॉ. राजेन्द्र प्रसाद।

ALSO READ: गणपति क्यों बैठाते हैं? क्यों पड़ा श्रीगणेश का पार्थिव गणेश नाम, जानिए

कब होगी आपकी शादी, क्यों हो रही है देर, जानिए क्या है कारण

13 नवंबर 2018 का राशिफल और उपाय...

सूर्य कवच : छठ पर्व पर यह पढ़ लिया तो जीवन भर रहेंगे निरोग और बलशाली

चुकंदर के फायदे तो सुने होंगे, पर इसके 7 नुकसान भी जान लीजिए

14 नवंबर : बाल दिवस पर निबंध

सम्बंधित जानकारी

कार्तिक शुक्ल पक्ष का पाक्षिक पंचांग : 19 नवंबर को देवउठनी ग्यारस, होगा तुलसी विवाह

छठ पूजा विशेष : कौन हैं षष्ठी मैया और कैसे हुई इस देवी की उत्पत्ति

छठ पूजा कब, कैसे और क्यों करें, जानिए महत्व, कथा और विधि

भगवान राम और माता सीता ने की थी सूर्यदेव की आराधना...जानिए, क्यों मनाया जाता है छठ पर्व, पढ़ें पौराणिक कथाएं

नवंबर 2018 के शुभ मुहूर्त : नया कार्य आरंभ करना चाहते हैं तो अवश्य पढ़ें...

सूर्य कैसे दूर करते हैं अपनी दिव्य किरणों से रोगों को, पढ़ें एक जरूरी लेख

सूर्य कवच : छठ पर्व पर यह पढ़ लिया तो जीवन भर रहेंगे निरोग और बलशाली

सूर्य पूजा, सूर्यार्घ्य और सूर्य नमस्कार से मिलते हैं सेहत और सौभाग्य के कई वरदान

भगवान सूर्यदेव की कृपा पाना चाहते हैं तो छठ पर्व के दिनों में अवश्य पढ़ें सूर्य चालीसा का संपूर्ण पाठ

12 नवंबर 2018 का राशिफल और उपाय...

अगला लेख