प्रज्ञा पाठक

अपने आसपास के लोगों में प्राय: हम कृपणता का भाव देखते हैं। यह कृपणता उनकी सोच से लेकर आचरण और घर से लेकर बाहर तक हर कहीं...
वो प्रेम कली और भंवरे का प्रेम नहीं था, नदी और सागर का था- सदा अनुरक्त, एकनिष्ठ, समर्पित। नेहा और प्रणय मानों एक-दूजे के...
भारतीय घर-परिवारों में आमतौर पर बुज़ुर्ग दो दशाओं में दिखाई देते हैं। या तो नई पीढ़ी से तालमेल के अभाव में वे उपेक्षित-से...
मुख्य मार्ग पर काफी भीड़ जमा थी। शायद कोई दुर्घटना हो गई थी। सामने से इस ओर ही आ रही कार में बैठे पिता-पुत्री ने यह दृश्य...
सामान्य तौर पर भगवान की परिकल्पना में वह दैवीय स्वरुप सामने आता है, जो स्नेह, दया, क्षमा, सौहार्द्र, अपरिग्रह से भरा हुआ...
नए साल में रिज़ोल्यूशन की बहुत चर्चा है। रिज़ोल्यूशन अर्थात् संकल्प। कई लोग नए वर्ष के आरंभ पर कई प्रकार के संकल्प लेते...
सुख' शब्द सुनते ही मन एक मखमली आनंद से भर उठता है। इस जगत् में सभी सुख चाहते हैं। हममें से हर एक सुख का अभिलाषी है।
बारिश का सुहावना मौसम है। प्रकृति अति संपन्न दिखाई दे रही है। थोड़ा धार्मिक हो जाएं, तो कह सकते हैं कि आकाश अर्थात परमात्मा...
जीवन कितना लघु है! एक सांस छूटी और खत्म। हम रोज़ पढ़ते-सुनते-देखते हैं । कभी हृदयाघात, कभी दुर्घटना,कभी रोग और कभी आत्महत्या,...
पति पत्नी का रिश्ता एक मात्र है जो सबसे लंबे समय तक अस्तित्व में रहता है और सर्वाधिक प्रतिकूलता इसी में पाई जाती है और...
क्या किसी के मन में कभी यह विचार आता है कि कभी अपने मन की भी सेल्फी लें? देखें कि वहां कौन-कौन से भावों का साम्राज्य विस्तार...
चंद सुविधाएं पत्नी को उपलब्ध कराकर वो यह समझता है कि उससे बेहतर पति दुनिया में अन्य कोई नहीं और इनके लिए वह निरंतर पत्नी...
मैक्सिको के चिचीकुइला शहर के महापौर अल्फांसो मोंटीएल ने अपने चुनावी प्रचार में शहर के विकास हेतु जनता से अनेक वादे...
पाकिस्तान के बाहरिया विश्वविद्यालय ने छात्र छात्राओं को कक्षा व कैंपस में साथ बैठने की स्थिति में परस्पर 6 इंच की दूरी...
हाल ही में एक ऐसी लड़की से मेरी भेंट हुई जो किसी निजी कारण से बहुत दुखी थी। उस तनाव में अक्सर अस्वस्थ रहने लगी थी और कई...
हिंदुओं के लिए पूज्यनीय ऐसे शिव पार्वती के स्वरुप में व्यक्ति विशेष का प्रदर्शन सर्वथा अनुचित है।
आभार व्यक्त तो कीजिए। फिर देखिए, उसकी सुगंध कैसे आपके रिश्तों को अद्भुत स्नेह से सींचती है और आपका जीवन कितना आनंद पूर्ण...
अरे कापुरुषों ! तनिक विचार तो करो, जब महिला हर रूप में आपके लिए आवश्यक है तो क्यों उस पर अत्याचार करते हो?
थोड़ा समय अपने शौक को देंगे तो आपको अपना आराम और मनोरंजन पूर्ण महसूस होगा।
हाल ही में 12वीं के नतीजे घोषित हुए। आत्महत्याओं का दौर एक बार पुनः चल पड़ा। अनुत्तीर्ण होने की निराशा इस कदर आजकल के...
अगला लेख Author|प्रज्ञा पाठक|Webdunia Hindi Page 2