अवधेश कुमार

स्वतंत्र पत्रकार
यह आजाद भारत के इतिहास में पहली बार होगा कि हमारे गणतंत्र दिवस समारोह में इस बार एक साथ दस देशों के राष्ट्राध्यक्ष मुख्य...
नोटबंदी के एक वर्ष पूरा होने पर जिस तरह सरकार और विपक्ष में तलवारें खींची हुईं हैं उन्हें अस्वाभाविक नहीं कहा जा सकता।...
कश्मीर अगर शांत हो जाए तो भारत के कलेजे में चुभता हुआ शूल हमेशा के लिए बाहर निकल जाएगा। हर भारतवासी चाहता है कि कश्मीर...
विधिवेत्ताओं की यह बात सही हो सकती है कि आरुषि और हेमराज हत्या प्रकरण से बड़ा कौतूहल वाला मामला आज तक भारत में नहीं देखा...
जैसे एक समय देश में असहिष्णुता पर बहस चली थी, ठीक उसी तरह नरेन्द्र मोदी सरकार की अर्थनीति और वर्तमान आर्थिक स्थिति को...
भाजपा एवं मोदी सरकार के अंदर इस समय नीतियों एवं व्यवहार को लेकर बहस चल रही है। पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने जो...
यह सच है कि पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में लगातार वृद्धि आम आदमी को परेशान कर रही है। इसे दूसरे शब्दों में कहें तो ऐसे...
कर्नाटक की पत्रकार गौरी लंकेश (55) की जघन्य हत्या का मामला उसी तरह राष्ट्रीय स्तर पर उबाल का कारण बना है जैसा दो वर्ष पूर्व...
गुरमीत राम रहीम प्रकरण में ऐसे अनेक पहलू उभरे जिन पर गहन चर्चा आवश्यक है। पूरे देश के मानस को टटोला जाए तो इस प्रकरण...
उच्चतम न्यायालय ने 395 पृष्ठों के अपने फैसले के अंत में केवल एक पंक्ति लिखा है- 3:2 के बहुमत से तलाक-ए-विद्दत यानी तीन तलाक...
LOADING