मां भगवती के 32 नाम, जपने से पूरे होंगे सारे कार्य, जानिए कैसे करें जप...

मां भगवती को अपने यह 32 नाम अति प्रिय हैं। इन्हें सुनकर वे पुलकित हो जाती हैं।


वर्षभर में आने वाली किसी भी नवरात्रि में अथवा प्रतिदिन श्री दुर्गा माता, भगवती की उपासना करने से हर व्यक्ति को मन इच्छित फल प्राप्त होते हैं। ॐ दुर्गा,  दुर्गसाधिनी, दुर्गनाशिनी, दुर्गतिशमनी, दुर्गाद्विनिवारिणी, दुर्गमच्छेदनी, दुर्गतोद्धारिणी, दुर्गनिहन्त्री पढ़ें मां दुर्गा के वह 32 नाम जो हर संकट से बचाते हैं... 
 
कैसे करें दुर्गा के पावन नामों का जप -
 
* किसी भी दिन या नवरात्रि में स्नानादि कार्यों से निवृत्त होने के बाद कुश या कंबल के आसन पर पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करके बैठें। 
 
* तत्पश्चात घी का दीपक जलाएं तथा मां दुर्गा को प्रिय उनके नामों की 5, 11 या 21 माला का जाप निरंतर नौ दिन तक करें। 
 
* इसके साथ ही माता से अपनी सभी मनोकामना पूर्ण करने की याचना करें।

ALSO READ: आपने नहीं पढ़ी होगी गुप्त नवरात्रि से जुड़ी यह प्रामाणिक एवं प्राचीन कथा
 
मां भगवती के 32 नाम
 
1. ॐ दुर्गा, 
2. दुर्गतिशमनी, 
3. दुर्गाद्विनिवारिणी, 
4. दुर्गमच्छेदनी, 
5. दुर्गसाधिनी, 
6. दुर्गनाशिनी, 
7. दुर्गतोद्धारिणी,
8. दुर्गनिहन्त्री 
9. दुर्गमापहा, 
10. दुर्गमज्ञानदा, 
11. दुर्गदैत्यलोकदवानला, 
12. दुर्गमा, 
13. दुर्गमालोका, 
14. दुर्गमात्मस्वरुपिणी, 
15. दुर्गमार्गप्रदा, 
16. दुर्गम विद्या, 
17. दुर्गमाश्रिता, 
18. दुर्गमज्ञान संस्थाना, 
19. दुर्गमध्यान भासिनी, 
20. दुर्गमोहा, 
21. दुर्गमगा, 
22. दुर्गमार्थस्वरुपिणी, 
23. दुर्गमासुर संहंत्रि, 
24. दुर्गमायुध धारिणी, 
25. दुर्गमांगी, 
26. दुर्गमता, 
27. दुर्गम्या, 
28. दुर्गमेश्वरी, 
29. दुर्गभीमा, 
30. दुर्गभामा, 
31. दुर्गमो, 
32. दुर्गोद्धारिणी।
 
कोई भी व्यक्ति परेशानी या कठिनाई के समय में इन 32 नामों का उच्चारण करता है, तो कुछ ही समय में उसके सभी दुख दूर हो जाते है और वो आनंदपूर्वक जीवन व्यतीत करता है।

ALSO READ: गुप्त नवरात्रि में इन 10 मंत्रों से करें मां की आराधना, दुख, दरिद्रता और हर बाधा होगी दूर

 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING