11 सोमवार, 11 शिव नाम और 11 अक्षत का करिश्मा...

शिव के 11 चमत्कारी मंत्र 
 
 
प्रत्येक सोमवार को प्रातः सूर्योदय के समय 1 घंटे के भीतर स्नान से निवृत्त हो शुद्धिपूर्वक शिवलिंग पर 11 अक्षत यानी साबुत चावल के दाने 'श्री राम' का उच्चारण करते हुए अर्पित करें एवं मन ही मन अपनी विशेष इच्छा का स्मरण करें।  लगातार 11 सोमवार ऐसा करने से अवश्य ही वह कार्य आश्चर्यजनक रूप से संपन्न होगा। 
 
प्रत्येक सोमवार को शिवलिंग की पूजा के बाद मन ही मन या रुद्राक्ष माला से कुश आसन पर बैठ इन चमत्कारी मंत्रों का जप करना विलक्षण सिद्धि व मनचाहे लाभ देने वाला होता है-
 
ॐ  अघोराय नम:
 
ॐ पशुपतये नम:
 
ॐ शर्वाय नम:
 
ॐ विरूपाक्षाय नम:
 
ॐ विश्वरूपिणे नम:
 
ॐ त्र्यम्बकाय नम:
 
ॐ कपर्दिने नम:
 
ॐ भैरवाय नम:
 
ॐ शूलपाणये नम:
 
ॐ ईशानाय नम:
 
ॐ महेश्वराय नम:

ALSO READ: हर सोमवार राशि अनुसार शिव को चढ़ाएं यह सामग्री, पाएं खुशियां मनचाही

ALSO READ: उज्जैन में ही क्यों विराजित हैं शिव 'महाकाल' के रूप में

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING