शुक्र वृश्चिक में, क्या लाया है आपके लिए (पढ़ें 12 राशियां)

* शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर कैसा रहेगा आपके लिए, जानिए... 
 
भोग और विलासिता का कारक शुक्र ग्रह तुला और वृषभ राशि का मालिक होता है। शुक्र को पति-पत्नी, प्रेम-संबंध, ऐश्वर्य, आनंद आदि का भी कारक ग्रह माना गया है। कुंडली में शुक्र का प्रभाव शुभ होने से भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ मिलता है व वैवाहिक सुख का आनंद प्राप्त होता है।
 
26 नवंबर 2017 को शुक्र ग्रह ने रात 10.20 पर वृश्चिक राशि में गोचर कर लिया है। शुक्र ग्रह वृश्चिक राशि में 20 दिसंबर को शाम 6.43 मिनट तक संचरण करेगा। लगभग 1 महीने तक चलने वाले इस गोचर का प्रभाव हम सभी के जीवन पर पड़ेगा। आइए जानते हैं कि इस गोचर का आपके जीवन पर प्रभाव क्या होगा?
 
मेष
 
शुक्र आपकी राशि से अष्टम भाव में प्रवेश करेगा। इस बीच आपकी दोस्ती विपरीत लिंग के जातकों के साथ खूब बढ़ेगी और आप उनकी संगत पसंद करेंगे। वासनात्मक क्रियाओं व सुख-सुविधाओं से जुड़ीं चीजों में आपकी रुचि बढ़ेगी। इस दौरान आप लाख से बनी हुईं चीजें खरीदना पसंद करेंगे। अप्रत्याशित लाभ होने की पूर्ण संभावना है। अपने जीवनसाथी के संग ससुराल पक्ष के रिश्तेदारों के यहां जा सकते हैं। नया घर खरीदने के भी योग हैं।
 
उपाय : सफेद चंदन नाभि, जुबान व माथे पर लगाएं।
 
वृषभ
 
शुक्र आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेगा जिस कारण आपके विपरीत लिंग के लोगों से कुछ विवाद हो सकते हैं। ये विवाद जीवनसाथी के साथ भी हो सकते हैं इसलिए अपने गुस्से पर काबू रखें। गोचर के दौरान वासनात्मक क्रियाओं में आपका मन ज्यादा लगेगा। विपरीत लिंग के जातकों के साथ संबंध बनाते समय सावधानी बरतें अन्यथा ये आपको नुकसान पहुंचा सकता है। जरूरी बचाव के साथ यदि रूटीन में अपने कार्य करेंगे तो संभवत: परेशानियों से बचे रहेंगे। अपने जीवनसाथी को लेकर ज्यादा रोमांटिक हो जाएंगे।
 
उपाय : श्री सूक्तम् का पाठ लाभप्रद।
 
मिथुन
 
इस दौरान शुक्र आपकी राशि से षष्ठम भाव में प्रवेश करेगा। इस कारण आपको स्वास्थ्य से संबंधित परेशानियां हो सकती हैं। यदि परहेज या बचाव नहीं किया तो ये समस्याएं बीमारी का रूप भी ले सकती हैं। विवादों में पड़ने से बचें अन्यथा आप उसमें बुरी तरह से उलझ सकते हैं। अनैतिक कार्यों के कारण आपकी समाज में छवि बिगड़ भी सकती है। स्वभाव से खर्चीले हो जाएंगे, पैसों को खर्च करने से पहले एक बार भी नहीं सोचेंगे। विरोधी पक्ष इस दौरान मजबूत हो सकता है। उसका सामना करने के लिए आपको खुद को मजबूत करना होगा। कार्यक्षेत्र पर वरिष्ठजनों के सहयोग में कमी आ सकती है इसलिए उन पर निर्भर न रहें।
 
उपाय : मां कात्यायनी की सफेद फूलों से पूजा करें।
 
कर्क
 
शुक्र आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर करेगा, जो आपकी जिंदगी में खुशी लेकर आएगा। रिश्तेदारों, बच्चों व दोस्तों के संग समय बिताना पसंद करेंगे। इस अवधि के दौरान आप काफी अच्छा महसूस करेंगे। प्यार व रोमांस के जरिए आपके जीवन में बहार आएगी और जिंदगी और भी रंगीन हो जाएगी। शत्रुओं को पराजित कर सकेंगे। कलात्मक क्रियाओं से आय के स्रोत खुलेंगे जिससे आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी होगी। संगीत व ग्लैमर से जुड़े क्षेत्रों में आपकी रुचि बढ़ेगी। आप साथी या प्रेमी के साथ इस बीच अच्छा समय बिताएंगे।
 
उपाय : लक्ष्मी व शिवपूजन लाभप्रद।
 
सिंह
 
आपकी राशि से शुक्र चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आप अपने दोस्तों के संग घूमना-फिरना पसंद करेंगे। परिवार में प्रेम व सौहार्द बना रहेगा, बस पारिवारिक क्लेश से खुद को दूर रखें। इस बीच आप भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे। एकाग्रता बढ़ेगी जिसके जरिए आप अपने काम पर पूरा ध्यान दे सकेंगे। ऐसा करने से आपके कार्यक्षेत्र पर आपकी छवि सुधरेगी। करियर में ग्रोथ के लिए जॉब चेंज का प्लान भी बना सकते हैं।
 
उपाय : पूजा के समय भगवान शिव को दूध चढ़ाएं।
 
कन्या
 
शुक्र आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आर्थिक लाभ होंगे और मान-सम्मान भी बढ़ेगा। छोटी-छोटी यात्राओं के संकेत मिल रहे हैं। अपनी बौद्धिक क्षमताओं से आप जीत हासिल करने में कामयाब होंगे। चुनौतियों का सामना डट कर करेंगे और अपनी मेहनत व लगन से शत्रुओं को मार गिराएंगे। इंटरनेट या अन्य किसी संचार माध्यम से शुभ समाचार प्राप्त हो सकते हैं। राह में आ रहीं परेशानियों व कठिनाइयों को पार करने में भाग्य का साथ मिलेगा। इस बीच आप जीत हासिल करेंगे जिससे समाज में आपका नाम होगा।
 
उपाय : मां लक्ष्मीजी को खीर चढ़ाएं।
 
तुला
 
आपकी राशि से शुक्र द्वितीय भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आर्थिक स्थिति पहले से काफी अच्छी हो जाएगी। घर में कोई नन्हा मेहमान आ सकता है। पैतृक संपत्ति से लाभ प्राप्त हो सकता है। सरकारी नीतियों से भी लाभ मिल सकता है। सुख-समृद्धि में बढ़ोतरी हो जाने से जीवन में खुशी आएगी। इस दौरान आपको स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद चखने को मिल सकता है। वाणी में मिठास आ जाने से व्यक्तित्व में आकर्षण आएगा।
 
उपाय : छोटी कन्याओं से आशीर्वाद प्राप्त करें और उन्हें मिश्री खिलाएं।
 
वृश्चिक
 
शुक्र आपकी ही राशि में यानी प्रथम भाव में गोचर करेगा। शुक्र के प्रभाव से आप इस दौरान भौतिक सुख-सुविधाओं का आनंद उठा सकेंगे। विदेशी जमीन से आर्थिक मुनाफा हो सकता है। अपने स्वभाव में ठहराव लाएं, इससे रिश्तों में स्थिरता व संतुलन बना रहेगा। इस अवधि में आप पारिवारिक सुख, स्वादिष्ट भोजन व विपरीत लिंग के जातकों की कंपनी का आनंद उठाएंगे। समस्याओं के आने से घबराएं नहीं, क्योंकि आप अपने जीवनसाथी के साथ इन सभी दिक्कतों से छुटकारा पा लेंगे। किसी बड़े बिजनेस को करने में दिलचस्पी दिखा सकते हैं।
 
उपाय : किसी भी देवी के मंदिर में शुक्रवार के दिन बताशे दान करें।
 
धनु
 
शुक्र आपकी राशि से द्वादश भाव में गोचर करेगा। हार्मोन्स में बदलाव के कारण आप उत्तेजना के शिकार हो सकते हैं। इसके साथ ही आपको वासनात्मक क्रियाओं से आनंद मिलेगा। जीवनस्तर को और उच्च करने के लिए आप उस पर अच्छी रकम खर्च कर सकते हैं। विदेश यात्रा के योग दिखाई दे रहे हैं। कोई नया बिजनेस शुरू कर सकते हैं और उससे लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं।
 
उपाय : भगवान शिव का दूध से रुद्राभिषेक करें।
 
मकर
 
आपकी राशि से शुक्र एकादश भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर होगी और कई क्षेत्रों से मुनाफे के आसार हैं। दोस्तों की मदद से आप भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे। शुक्र के प्रभाव से आप इस बीच फैशनेबल कपड़ों व परफ्यूम पर खर्च करेंगे। दोस्तों की गिनती में इजाफा होगा जिससे आपका सामाजिक दायरा बढ़ेगा। इस गिनती में विपरीत लिंग के जातक भी होंगे। जीवन में प्यार व रोमांस आपके इस समय को यादगार बना देगा।
 
उपाय : श्री लक्ष्मी सूक्तम् पढ़ें और सफेद प्रसाद चढ़ाएं।
 
कुंभ
 
शुक्र आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेगा। लड़ाई-झगड़ों व फिजूल की बहस के कारण समय व ऊर्जा दोनों बर्बाद हो सकते हैं। इससे मानहानि के भी आसार हैं इसलिए इन सबसे खुद को दूर रखें। कार्यक्षेत्र पर गॉसिप करने से बचें अन्यथा आप विवाद में फंस सकते हैं। वैवाहिक जीवन में समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं, इसके साथ ही विपरीत लिंग के लोगों के साथ भी विवाद हो सकते हैं। भाग्य के सहारे आप अपनी राह में आ रही रुकावट को दूर कर सकेंगे। करियर के लिहाज से ये समय आपके लिए शुभकारी है। इस दौरान आपको प्रमोशन मिल सकता है जिस कारण आप खुद को स्थानांतरित कर सकते हैं।
 
उपाय : ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम: मंत्र का जाप कमल गट्टे की माला से करें।
 
मीन
 
आपकी राशि से शुक्र नवम भाव में गोचर करेगा। मन को शांति मिलेगी और आप आध्यात्मिक कार्यों के प्रति खुद को समर्पित करेंगे। पिता की सेहत पर ध्यान देने की जरूरत है। प्रेम-संबंध पहले से ज्यादा मजबूत होंगे और इस दौरान आप खुश और संतुष्ट रहेंगे। जीवन के प्रति उदार दृष्टिकोण रखेंगे हालांकि भाई-बहनों के साथ कुछ समस्याएं खड़ी हो सकती हैं। गोचर की इस अवधि में आर्थिक लाभ होंगे व बैंक-बैलेंस बढ़ेगा। शॉपिंग की आदत लग सकती है। आप इस बीच अपने लिए काफी नए कपड़े खरीद सकते हैं।
 
उपाय : शुक्रवार को पुजारिन को चावल दही का दान करें।
 

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें!
LOADING