इन चीजों को पलंग के नीचे रखने से बदल जाएंगे आपके सितारे

कुंडली में ग्रहों के बुरे प्रभावों को कम करने के लिए यंत्र, तंत्र, मंत्र का सहारा लिया जाता है। ग्रहों की शांति के लिए मंत्र का सहारा लिया। ग्रहों के अशुभ प्रभावों को दूर करने के लिए उनसे जुड़ी धातुओं का प्रयोग भी किया जा सकता है। इन प्रयोगों से पहले कुंडली का विश्लेषण जरूरी है कि आपको कौनसा ग्रह अशुभ प्रभाव दे रहा है। आइए  जानते हैं  ग्रहों को अशुभ प्रभावों को दूर करने के कुछ प्रयोग। जिन्हें आप आसानी से कर सकते हैं। 
 
सूर्य :आपकी कुंडली में सूर्य अशुभ प्रभाव दे रहा है तो पलंग के नीचे तांबे के पात्र में जल या तकिए के नीचे लाल चंदन रखने से अशुभ प्रभाव में कुछ कमी आ सकती है।
 
चन्द्र :आपकी कुंडली में चन्द्र का प्रभाव अशुभ है तो पंलग के नीचे चांदी के बर्तन जल रखें या चांदी के आभूषण पहनना चाहिए।
 
मंगल :कुंडल में मंगल के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए पलंग के नीचे कांसे के बर्तन में जल रखे या सोना-चांदी मिश्रित आभूषण तकिए के नीचे रखें। 
 
बुध :बुध ग्रह के बुरे प्रभाव को कम करने के लिए तकिए के नीचे सोने के आभूषण रखना चाहिए। 
 
गुरु :पलंग के नीचे पीतल के बर्तन में जल या हल्दी की गांठ पीले कपड़े में बांधकर तकिए के नीचे रखने से गुरु की अशुभता कम होती है। 
 
शुक्र :कुंडली में शुक्र को सबसे सौम्य ग्रह माना जाता है। चांदी की मछली बनाकर तकिए के नीचे रखना चाहिए। पलंग के नीचे चांदी के पात्र में जल रखने से भी शुक्र का अशुभ प्रभाव दूर होता है। 
 
शनि :जिस ग्रह से सब डरते हैं, वह है शनि। शनि के अशुभ प्रभावों को कम करने के लिए पलंग के नीचे लोहे के पात्र में जल रखें या तकिए के नीचे लोहा या नीलम रखें। 
 
नोट :ध्यान रखें कि ये ग्रहों के यह उपाय करने से पहले अपनी कंडली का विश्लेषण करवा लें कि कौनसा ग्रह अशुभ प्रभाव दे रहा है। 
 
प्रस्तुति : सुधीर शर्मा

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें-निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING