राशि परिवर्तन : 13 महीने बाद गुरु ग्रह ने बदली राशि, किन लोगों को मिलेगा भाग्य का साथ, जानिए

शास्त्रों में गुरु या बृहस्पति को अत्यंत उच्च स्थान प्राप्त है। बुद्धि तथा कौशल के स्वामी इस नक्षत्र को शुभ व अमृतमयी माना जाता है। इसलिए इनकी कोई भी चाल प्रत्येक जातक को प्रभावित करती है।
 
11 अक्टूबर 2018 शाम 7.29 मिनट पर गुरु या बृहस्पति ने तुला राशि से वृश्चिक राशि में प्रवेश कर लिया हैं। विगत 1 वर्ष से गुरु तुला राशि में स्थित थे। गुरु अब वृश्चिक राशि में 5 नवंबर 2019 तक रहेंगे। 
 
आइए जानते हैं कि इस राशि परिवर्तन का विभिन्न राशियों पर क्या प्रभाव होगा :-
 
मेष राशि के जातकों के लिए यह परिवर्तन सुखद होगा और कठिनार्इ के बीच भी आशा की किरण नजर आएगी। अस्थिर चित्तता और तनाव में कमी आएगी। पीले पुष्प मंदिर में चढ़ाने से मानसिक अशांति लाभ में होगा।  
 
वृषभ राशि के जातकों के लिए यह समय आर्थिक दृष्टि से लाभकारी है। कार्य-व्यापार में सफलता प्राप्त होगी। आलस्य से बचें और अवसरों पर ध्यान रखें। दान-पुण्य की भावना का उदय होगा। 
 
मिथुन राशि के जातकों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। कार्यों में व्यवधान आएगा। चिंता, तनाव से स्वास्थ्य संबंधी समस्या भी हो सकती है। सुबह नित्य मंदिर जाने से लाभ होगा।   
 
कर्क राशि के जातकों के लिए गुरु श्रेष्ठ प्रभाव देगा। अनुकूल परिणाम पाने के लिए अत्यधिक प्रयास करना पड़ेगा। मेहनत से ही फल प्राप्त होगा। नित्य गौ-पूजन और उन्हें भीगी हुई चने की दाल खिलाने से लाभ होगा।
 
सिंह राशि के जातकों के लिए नकारात्मक होगा। आर्थिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। आय के नए स्रोत प्राप्त होंगे। मित्र-परिजनों से तनाव की स्थिति बन सकती है। सत्संग में जाने से लाभ होगा। 

ALSO READ: गुरु का वृश्चिक राशि में गोचर 11 अक्टूबर से, कहीं आपके विवाह में बाधक तो नहीं...

 
कन्या राशि के जातकों के लिए आर्थिक दृष्टि से शुभ। मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा और अच्छा स्वास्थ्य रहेगा। भौतिक सुख-सुविधाओं में वृद्धि रहेगी। नित्य सुबह-सुबह सूर्य के दर्शन करें और अर्घ्य देने से लाभ होगा। 
 
तुला राशि के जातकों के लिए गुरु का वृश्चिक में भ्रमण दुख, कलह और विवाद उत्पन्न करेगा। कार्यक्षेत्र में भी चुनौतियां आएंगी। सफलता के लिए कठिन संघर्ष करना पड़ेगा। दत्तात्रेय भगवान की नित्य आराधना से लाभ होगा।
 
वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह परिवर्तन भाग्य चमकाने वाला होगा। परंतु स्वास्थ्य में कोई कोताही न बरतें। कार्य-व्यापार में धन लाभ होगा। सुबह नित्य शिव मंदिर जाने से लाभ होगा।
 
धनु राशि के जातकों के लिए नकारात्मक बढ़ेगी। सामाजिक, राजनीतिक क्षेत्रों से जुड़े व्यक्तियों को समस्याएं आएंगी। संचित धन व्यय होगा। काले कुत्ते को दूध पिलाने से लाभ होगा।
 
मकर राशि के जातकों के लिए शुभता आएगी और विघ्न मिटेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। नए निवेश से कामयाबी मिलेगी। नौकरी में पदोन्नति की संभावना है। शुभता के लिए हनुमान जी के दर्शन करें। 
 
कुंभ राशि के जातकों को परिवर्तनों से हानि और मानसिक चिंता होने की आशंका है। कार्यों में व्यवधान आएगा, व्यय भी बढ़ेगा। किसी महत्वपूर्ण कार्य करते समय पीले वस्त्र पहनने से लाभ होगा।  
 
मीन राशि के जातकों के लिए विशेष सौभाग्य के योग हैं। आयु, आरोग्य, सुख-ऐश्वर्य सभी की प्राप्ति होगी। कार्यों में सफलता, संतान से सुख की प्राप्त होगी। शुभता बनाए रखने के लिए नित्य गायत्री मंत्र का जाप करें।

ALSO READ: गुरु का वृश्चिक राशि में आना कैसा रहेगा 12 राशियों के लिए, जानिए...
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING