दिसंबर 2017 के शुभ योग, जानें नया कार्य आरंभ करने का सही समय...

* जानिए दिसंबर 2017 के मंगलकारी कार्य-सिद्धि योग...
 
प्रतिमाह आने वाले कई योग सकारात्मक ऊर्जा से सम्पन्न होते हैं। इसी कारण किसी भी नए कार्य को शुरू करने से पहले उस माह के कार्य-सिद्धि योग, शुभ योग-संयोग को देख-परख लेना श्रेष्ठ होता हैं। अगर आपको किसी भी माह में नया कार्य आरंभ करना हो तो शुभ योग-संयोग देखकर किया जाए तो सफलता निश्चित रूप से मिलती है। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं दिसंबर 2017 के शुभ-अशुभ योग। आइए जानें :- 
 
दिसंबर के शुभ-अशुभ योग 
 
01 दिसंबर प्रात: 06/30 से दोपहर 02/28 तक
 
04 दिसंबर प्रात: 06/32 से देर रात्रि 03/20 तक
 
07 दिसंबर प्रात: 06/34 से सायं 07/54 तक
 
10 दिसंबर सायं 05/35 से देर रात्रि 06/36 तक
 
15 दिसंबर देर रात्रि 01/30 से देर रात्रि 06/39 तक
 
22 दिसंबर प्रात: 06/43 से सायं 07/11 तक
 
26 दिसंबर प्रात: 06/45 से देर रात्रि 01/47 तक
 
28 दिसंबर प्रात: 06.45 से देर रात्रि 12/38 तक

30 दिसंबर रात्रि 08/38 से देर रात्रि 06/46 तक
 
अमृत सिद्धि योग
 
04 दिसंबर प्रात: 06/32 से देर रात्रि 03/20 तक
 
07 दिसंबर प्रात: 06/34 से रात्रि 07/54 तक
 
30 दिसंबर रात्रि 08/38 से देर रात्रि 06/46 तक
 
सर्वदोषनाशक रवि योग
 
01 दिसंबर दोपहर 02.28 से 02 दिसंबर दोपहर 10.59 तक।
 
02 दिसंबर दोपहर 12.07 से 03 दिसंबर प्रात: 09.21 तक।
 
08 दिसंबर सायं 06.28 से 09 दिसंबर सायं 05.41 तक।

21 दिसंबर सायं 04.18 से 22 दिसंबर को सायं 07.11 तक।
 
23 दिसंबर को रात्रि 09.43 से 24 दिसंबर को रात्रि 11.46 तक।
 
26 दिसंबर को देर रात्रि 01.47 से 27 दिसंबर को देर रात्रि 01.37 तक।
 
31 दिसंबर को सायं 05.54 से। 
 
त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग
 
24 दिसंबर को देर रात्रि 01/55 से देर रात्रि 06/44 तक
 
30 दिसंबर को प्रात: 06/46 से सायं 06/56 तक
 
रवि पुष्यामृत योग
 
07 दिसंबर को प्रात: 06.34 से रात्रि 07.54 तक
 
अशुभ ज्वालामुखी योग
 
18 दिसंबर को दिन 12.00 से 19 दिसंबर को दिन 10.09 तक
 
विघ्नकारक भद्रा योग
 
02 दिसंबर को देर रात्रि 12.58 से 03 दिसंबर को दोपहर 11.09 तक।
 
05 दिसंबर को रात्रि 12.03 से 06 दिसंबर को प्रात: 10.19 तक।
 
08 दिसंबर को देर रात्रि 02.52 से 09 दिसंबर को दोपहर 02.12 तक।
 
12 दिसंबर को दोपहर 01.41 से देर रात्रि 02.09 तक।

16 दिसंबर को प्रात: 07.11 से रात्रि 08.21 तक।
 
22 दिसंबर को प्रात: 09.11 से रात्रि 10.23 तक।
 
25 दिसंबर को देर रात्रि 02.44 से 26 दिसंबर को दोपहर 02.50 तक।
 
29 दिसंबर को दोपहर 11.11 से रात्रि 09.55 तक।
 
पंचक
23 दिसंबर को प्रात: 08.30 से 27 दिसंबर को देर रात्रि 01.37 तक।
 
मूल-संज्ञक नक्षत्र
 
अश्विनी 01 दिसंबर को सूर्योदय से दिन 02.28 तक

आश्लेषा मघा 07 दिसंबर को रात्रि 07.54 से 09 दिसंबर को सायं 05.41 तक
 
ज्येष्ठा मूल 16 दिसंबर को देर रात्रि 04.13 से 19 दिसंबर को प्रात: 10.09 तक
 
रेवती अश्विनी 26 दिसंबर को देर रात्रि 01.47 से 28 दिसंबर को रात्रि 12.38 तक
 
चन्द्रमा का राशि प्रवेश
 
02 दिसंबर को सायं 5.28 बजे वृष में
 
04 दिसंबर को सायं 4.50 बजे मिथुन में
 
06 दिस. को सायं 4.32 बजे कर्क में

08 दिस. को सायं 6.28 बजे सिंह में
 
10 दिसंबर को रात्रि 11.40 बजे कन्या में
 
13 दिस. को प्रात: 8.05 बजे तुला में
 
15 दिसंबर को सायं 06.52 बजे वृश्चिक में
 
18 दिस. को प्रात: 07.07 बजे धनु में
 
20 दिसंबर को रात्रि 08.01 बजे मकर में
 
23 दिसंबर को प्रात: 08.30 बजे कुम्भ में
 
25 दिस. को सायं 06.52 बजे मीन में
 
27 को देर रात्रि 01.37 बजे मेष में
 
29 दिसंबर को देर रात्रि 04.25 बजे कन्या में

31 दिसंबर को देर रात्रि 04.25 बजे कन्या में। 
 
ALSO READ: मासिक ग्रह वाणी : पढ़ें दिसंबर 2017 में 12 राशियों के लिए शुभ दिनांक...

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें!
LOADING